Responsive Ad Slot

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ

बुधवार, 10 जून 2020

/ by The News Stall
इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

कोरोना वैक्सीन बनाने में दुनिया की बड़ी से बड़ी फॉर्मा कंपनियां जुटी हैं. अब भारत की कंपनी Panacea Biotec ने कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने के लिए अमेरिकी कंपनी Refana Inc से हाथ मिलाया है. पैनेसिया बॉयोटेक ने रेगुलेटरी फा​इलिंग में यह जानकारी दी है.

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

दोनों कंपनियों के बीच ये साझेदारी इनएक्टिवेटेड वायरस बेस्ड वैक्सीन बनाने के उद्देश्य से हुआ है. ये भारतीय कंपनी रेफाना के साथ मिलकर कोविड-19 के संभावित टीके की 50 करोड़ से ज्यादा डोज बनाना चाहती है, जिसकी 4 करोड़ से अधिक डोज अगले साल तक आपूर्ति का लक्ष्य है.

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

इस बारे में पैनेसिया बॉयोटेक के प्रबंध निदेशक राजेश जैन ने कहा कि दुनिया को एक सुरक्षित और प्रभावी टीके की जरूरत है जो मौजूदा विनिर्माण सुविधाओं में बड़े स्तर पर उत्पादित किया जा सके और वैश्विक मांग को पूरा कर सके.

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

साझेदारी के तहत Panacea Biotec प्रॉडक्ट डेवलपमेंट और कमर्शियल मैन्युफैक्चरिंग की जिम्मेदारी संभालेगी, वहीं ज्वॉइंट वेंचर एंटिटी क्लीनिकल डेवलपमेंट और रेगुलेटरी सबमिशंस पर काम करेगी. दोनों कंपनी के बीच इस वैक्सीन पर 50-50 हिस्सेदारी तय हुई है.

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

राजेश जैन ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि इस वैक्सीन का एनिमल ट्रायल हो चुका है, जो अब तक सेफ है और प्रभावी रहा है. उन्होंने बताया कि अगस्त से सितंबर के बीच में मानव ट्रायल के लिए ड्रग अथोरिटी को अप्लीकेशन लगाएंगे.

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

पैनेसिया बॉयोटेक की योजना है कि अक्टूबर में ह्यूमन ट्रायल का फेस-1 स्टार्ट कर दिया जाएगा. साथ ही कंपनी वैक्सीन का प्रोडक्शन भी शुरू कर देगी. दिसंबर- 2020 और जनवरी- 2021 में हर महीने 40 मिलियन वैक्सीन का डोज तैयार करने का लक्ष्य है. इस वैक्सीन की स्टोरेज से लेकर ट्रांसपोर्टेशन बेहद आसान होगी.

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

राजेश जैन ने बताया कि कम कीमत पर वैक्सीन उपलब्ध कराने की योजना है, उन्होंने बताया कि सफलता मिलने के बाद भारत में इस्तेमाल के साथ-साथ एक्सोर्ट की भी योजना है. उन्होंने बताया कि दूसरी कंपनियों द्वारा बनाई जा रहीं वैक्सीन से ये बिल्कुल अलग है, और इसकी सफलता की उम्मीद ज्यादा है.

इस भारतीय कंपनी की वैक्सीन का एनिमल ट्रायल सेफ, अमेरिकी फार्मा से करार

जहां तक इस वैक्सीन को बनाने में लागत की बात है कि फंडिंग विदेशी कंपनी कर रही है. पैनेसिया बॉयोटेक फंडिंग नहीं कर रही है. उन्होंने बताया थोड़ी और कामयाबी मिल जाने के बाद सरकार से वैक्सीन को लेकर कंपनी संपर्क करेगी. अमेरिकी कंपनी से डील की खबर के बाद बुधवार को पैनेसिया बॉयोटेक के शेयरों में 20 फीसद उछाल के साथ अपर सर्किट लग गया.

Source - Aajtak
Don't Miss
© all rights reserved