Monday, November 18दुनियाभर की मजेदार खबरों और कहानियों का स्टॉल

Patch War Between India And Pakistan : देखिए कैसे पैच वॉर में तब्दील हुआ भारत-पाकिस्तान की वायु सेनाओं का हवाई संघर्ष

Patch War Between India And Pakistan : भारत और पाकिस्तान एक-दूसरे के लड़ाकू विमान मार गिराने के पक्के सबूत भले न दे पाए हों, लेकिन उनके दावे पैबंद (या पैच) के रूप में छपने जरूर लगे हैं. वहीं, विमान गिराने के दावों की इस लड़ाई में अब चीन भी शामिल हो गया है. दरअसल, बीती 27 फरवरी को भारत और पाकिस्तान के बीच जो हवाई संघर्ष हुआ था, उससे जुड़े कुछ पैच सामने आए हैं. ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट ईबे पर चीन में बने कुछ पैबंद (पैच) देखने को मिलते हैं. इन पर चीनी लड़ाकू विमान जेएफ-17 ‘थंडर’ छपा है और उसके नीचे लिखा है ‘मिग किलर’.

चीन में बना पैच.

बता दें कि 26 फरवरी को हुए बालाकोट हवाई हमले के जवाब में अगले दिन पाकिस्तान ने अपने लड़ाकू विमान भारतीय हवाई सीमा क्षेत्र में भेजे थे. भारतीय वायु सेना ने इस घुसपैठ को नाकाम कर दिया था. लेकिन उस दौरान हुए हवाई संघर्ष में दोनों देशों का एक-एक लड़ाकू विमान मार गिराया गया था. आईएएफ का दावा है कि उसने पाकिस्तान का सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान एफ-16 मार गिराया था. वहीं, पाकिस्तान ने भारत के मिग-21 बाइसन को मार गिराने का दावा किया था. उसके इस दावे को पैबंद के रूप में ईबे पर 16 डॉलर (1,125 रुपये) के दाम पर बेच रहा है.

पाकिस्तान में बने पैच

वहीं, 21 साल के ग्राफिक डिजाइनर सौरव चौरड़िया ने आईएएफ के लिए दो पैच बनाए हैं. इनमें से एक पर बाइसन की तस्वीर छपी है और लिखा है, ‘फैल्कन को मारने वाला’. एक पैच और है जिसमें भारत का सबसे घातक लड़ाकू विमान सुखोई30-एमकेआई छपा है. लेकिन पैच में विमान के साथ ‘अमराम’ मिसाइल का नाम है जो एफ-16 विमान में लगती है. इसलिए आईएएफ ने इस पैच को मंजूरी नहीं दी है.

सौरव चौरड़िया द्वारा डिजाइन पैच

आईएएफ में विमान दस्तों को अपने-अपने पैच चुनने की आजादी है. लेकिन सौरव चौरड़िया द्वारा डिजाइन किए गए पैचों पर कुछ लोगों की राय है कि ये वायु सेना के मनोबल को बढ़ाने का काम नहीं करते. एनडीटीवी से बातचीत में एक पूर्व आईएएफ लड़ाकू पायलट ने कहा, ‘कई पूर्व पायलटों से बात हुई है. यह आसानी से समझ आने वाली बात है कि (पैच बनाते वक्त) ‘अमराम’ से परहेज किया जा सकता था और एफ-16 को मार गिराए जाने पर ध्यान दिया जाता.’ वहीं, आईएएफ मुख्यालय ने भी इन पैचों को आधिकारिक रूप से स्वीकार नहीं किया है.

उधर, पाकिस्तान में भी उसकी वायु सेना के दावे के मुताबिक पैच तैयार किए गए हैं. एक पैच पर लिखा है, ‘27-02-2019 : डोन्ट मेस विद अस : पाकिस्तान एयर फोर्स’, यानी ‘पाकिस्तानी वायु सेना से पंगा मत लेना’. एक और पैच पर अमराम मिसाइल का जिक्र है. इसके बारे में पैच पर लिखा है, ‘इट जस्ट टेक्स ए पेयर. 100% किल रेशो’. यहां इशारा भारत के मिग-21 बाइसन की तरफ है जिसे पाकिस्तानी एफ-16 ने दो अमराम मिसाइलों से निशाना बनाया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *